Contact Us

Contact Us

Contact Us :- Registered & Corporate Address – SHARMA BHAWAN MAIN ROAD SAI ENCLAVE RAJ NAGAR EXTENSION GHAZIABAD UTTAR PRADESH 201017

News Web URL :- http://www.mdsshindinews.com/

online shopping website URL:- https://mdssindia.com/

Facebook URL:- https://www.facebook.com/MDSSHINDINEWS/

Twitter URL     :- @mdssindia1

instagram URL :- @mdssindia39

YouTube URL :- https://www.youtube.com/channel/UC8ghmp4LKxj6hysNPM90rDw


UCweb News Blogger id :-  Mdssindia


Newsdog id:- Mdssindia


Email Id :- maadurgasales.services@gmail.com and mdssindiataazakhabar@gmail.com.


Phone no :- 8368191496

  •  
  • Registered & Corporate Address – SHARMA BHAWAN MAIN ROAD SAI ENCLAVE RAJ NAGAR EXTENSION GHAZIABAD UTTAR PRADESH 201017

 

Mdsshindinews is (Maa Durga Sales & Services) (www.mdssindia.com) & (http://www.mdsshindinews.com/). is a young and vibrant company that aims to provide good quality News.  हम हर वर्ग के पाठकों को प्रतिदिन शिक्षा,स्वास्थ्य,रोजगार,धर्म-आध्यात्म,विज्ञान-तकनीकी,राजनीति साहित्य ,व्यवसाय व खेल समेत जीवन की हर अन्य महत्वपूर्ण आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए रुचिकर और विस्तृत सामग्री उपलब्ध कराते हैं।साथ ही उन्हें दूर दुनिया घटनाओं से लेकर उसके अपने शहर तक की हर हलचल पर विशेषज्ञों के विचार- विश्लेषण भी यहां उपलब्ध हैं। और,यह सब कुछ पाठकों के अनुरूप हो, इसके लिए उनकी राय-सुझाव का हम हरदम खास ख्याल रखते हैं। यही बात हमें अन्य हिंदी साइटों से अलग बनाती है, और बेहतर करती है। आज हिंदी ब्लॉग जगत विषयों की प्रचुरता से संबन्न हो चुका है,क्या आपको भड़ास, कबाड़खाना, अखाड़े का उदास मुदगर, नुक्ताचीनी, नौ-दौ-ग्यारह, विस्फोट, आरंभ, उधेड़-बुन, बतंगड़, चवन्नी चैप, खंभा इत्यादि नामों में कोई चीज़ एक-सी नज़र आती है? जी हाँ, ये सभी हिंदी ब्लॉगों के नाम हैं और इनमें से तो कई बेहद प्रसिद्ध और सर्वाधिक पढ़े जाने वाले हिंदी ब्लॉगों में से हैं। और इसमें दिन प्रतिदिन इज़ाफ़ा होता जा रहा है। इरफान का ब्लॉग सस्ता शेर http://www.mdsshindinews.com प्रारंभ होते ही लोकप्रियता की ऊँचाइयाँ छूने लगा। इसमें उन आम प्रचलित शेरों, दोहों, और तुकबंदियों को प्रकाशित किया जाता है, जो हम आप दोस्त आपस में मिल बैठकर एक दूसरे को सुनाते और मज़े लेते हैं। ऐसे शेर किसी स्थापित प्रिंट मीडिया की पत्रिका में कभी प्रकाशित हो जाएँ, ये अकल्पनीय है। सस्ता शेर में शामिल शेर फूहड़ व अश्लील कतई नहीं हैं, बस, वे अलग तरह की, अलग मिज़ाज में, अल्हड़पन और लड़कपन में लिखे, बोले बताए और परिवर्धित किए गए शेर होते हैं, जो आपको बरबस ठहाका लगाने को मजबूर करते हैं