RSS का सबसे बड़ा समागम मेरठ में आज 3 लाख स्वयंसेवकों के पहुंचने का अनुमान

RSS का सबसे बड़ा समागम मेरठ में आज 3 लाख स्वयंसेवकों के पहुंचने का अनुमान

RSS का सबसे बड़ा समागम मेरठ में आज 3 लाख स्वयंसेवकों के पहुंचने का अनुमान। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) यहां 25 फरवरी को राष्ट्रीय स्तर का सम्मेलन कर रही है। इसमें संघ प्रमुख मोहन भागवत अपने भाषण से स्वयंसेवकों में नया जोश भरेंगे। इसमें 3 लाख स्वयंसेवकों के पहुंचने का अनुमान है। दावा किया जा रहा है कि संघ की स्थापना के बाद यह उसका अब तक का सबसे बड़ा शक्ति प्रदर्शन है। इसे राष्ट्रोदय समागम का नाम दिया गया है। इससे पहले 2010 में केरल के कोल्लम में 92 हजार स्वयंसेवक एक साथ जुटे थे।

RSS का सबसे बड़ा समागम मेरठ में आज 3 लाख स्वयंसेवकों के पहुंचने का अनुमान है

माना जा रहा है कि राष्ट्रोदय समागम के पीछे 2019 के लोकसभा चुनाव हैं। समागम से पहले शुक्रवार को मोहन भागवत ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी। बताया जा रहा है कि संघ प्रमुख ने इस मुलाकात में योगी से उनके 11 महीने के कामकाज की रिपोर्ट मांगी है और 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए तैयारियों पर चर्चा की है। प्रांत प्रचारक अजय मित्तल ने बताया कि मेरठ में होने वाले समागम की तैयारियां लगभग 1 साल से चल रही हैं।

RSS का सबसे बड़ा समागम मेरठ में आज 3 लाख स्वयंसेवकों के पहुंचने का अनुमान

हम गांव-गांव जाकर लोगों को संघ से जोड़ रहे हैं। संघ पश्चिमी उत्तर प्रदेश की हर नगर पंचायत तक पहुंच चुका है।

वेस्ट यूपी में बीजेपी की ​स्थिति
2007: 22 जिलों में 17 सीट
2012: 22 जिलों में 18 सीट
2017: 22 जिलों में 77 सीट

RSS का सबसे बड़ा समागम मेरठ में आज 3 लाख स्वयंसेवकों के पहुंचने का अनुमान

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में करीब 21% दलित, 20% मुस्लिम, 17% जाट और 13% यादव हैं। ब्राह्मण और ठाकुर वोट करीब 28% है। सीनियर जर्नलिस्ट प्रदीप कपूर कहते हैं कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश हमेशा ही बीजेपी की कमजोर कड़ी रहा है, क्योंकि वहां दलित-जाट और मुस्लिम का गठजोड़ रहा है। 2017 के चुनाव में पहली बार बीजेपी ने 77 सीट जीतीं। ऐसे में 2019 को देखते हुए आरएसएस ने मेरठ में अपना सबसे बड़ा समागम करने का फैसला किया है। नाम न छापने की शर्त में एक सीनियर लीडर ने कहा, “आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत यूपी में बीते 7 दिनों से तीन प्रांत में समागम कर हिंदुओं को एकता का मंत्र दे रहे हैं। यह समागन मुख्य रूप से हिंदुओं में एकता स्थापित करना और जातीय भेदभाव को खत्म करने के लिए है।

अरिजीत सिंह पर दोबारा फूटा सलमान का गुस्सा 4 साल बाद भी नहीं किया माफ

शिल्पा शिंदे भाभी जी विवाद में मुझे डराने की कोशिश की गई जानिये पूरी खबर

सोनाक्षी सिन्हा का ‘वेलकम टू न्यूयॉर्क ‘ से जुड़ा ये बड़ा राज आया सामने देखिये

ताजातरीन खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें

हिन्दी खबरों से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Google Play Store सें ⇒⇒⇒ MdssHindiNews (App)

दोस्तों संग शेयर करें
Share on Facebook
Facebook
Share on Google+
Google+
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on LinkedIn
Linkedin
Pin on Pinterest
Pinterest
Share on Tumblr
Tumblr

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *