स्वतंत्रता के संघर्ष में सबसे अधिक कुर्बानियां पंजाबियों ने दी: कैप्टन अमरेन्द्र

स्वतंत्रता के संघर्ष में सबसे अधिक कुर्बानियां पंजाबियों ने दी: कैप्टन अमरेन्द्र

स्वतंत्रता के संघर्ष में सबसे अधिक कुर्बानियां पंजाबियों ने दी: कैप्टन अमरेन्द्र। शहीद-ए-आजम स भगत सिंह,राजगुरु तथा सुखदेव के शहीदी दिवस पर आयोजित सूबा स्तरीय शहीदी समारोह को संबोधित करते हुए पंजाब के मुख्य मंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने कहा कि शहीद भगत सिंह ने मात्र 23 वर्ष की छोटी आयु में फांसी के फंदे को साथियों सहित चूमा तो उस समय किसी को भी यह पता नहीं था कि देश को आजादी मिल जाएगी।

स्वतंत्रता के संघर्ष में सबसे अधिक कुर्बानियां पंजाबियों ने दी: कैप्टन अमरेन्द्र

देश की स्वतंत्रता के संघर्ष में कूदने वाले महान स्वतंत्रता सेनानी मात्र यह जानते थे कि उन्हें संघर्ष के बदले शहादत देनी होगी अथवा उम्र भर काले पानी की सजा काटने को मजबूर होना होगा। उन्होंने कहा कि आजादी के संघर्ष में सबसे अधिक कुर्बानिया पंजाबियों ने दी है। देश को आजाद करवा कर खुद मुखतियारी देना, तरक्की के मार्ग पर तेजी से अग्रसर करना तथा देश के लोगों को आर्थिक सम्पन्नता देना शहीदों का सपना था। जिसे पूरा करने के लिए अभी बहुत कुछ किया जाना शेष है।

स्वतंत्रता के संघर्ष में सबसे अधिक कुर्बानियां पंजाबियों ने दी: कैप्टन अमरेन्द्र

उन्होंने कहा कि युवाओं में नशे के बढ़ते रुझान के चलते बच्चों का भविष्य धूमिल हो रहा है। युवाओं के भविष्य को संवारने के लिए नशे के खिलाफ मुहिम चलाने की जरुरत है। पंडाल में बसन्ती पग्गे तथा बसन्ती दुपट्टे लेकर बैठ युवाओं से उत्साहित होते हुए कैप्टन ने कहा कि यह इंनकलाब की निशानी है। उन्होंने कहा कि नशे के खिलाफ पंजाब सरकार की ओर से डेपो ड्रग एब्यूज प्रिवेंशन अफसर जिसके लिए पंजाब के करीब 4.25 लाख लोगों ने रजस्ट्रिेशन करवाई है। इस प्रोग्राम तहत निर्मित सदस्य नशों के खिलाफ मुहिम में योगदान दे सकेंगे जिससे नशों में लिप्त लाखों युवाओं को इस नरक से निकाला जा सकेगा।

स्वतंत्रता के संघर्ष में सबसे अधिक कुर्बानियां पंजाबियों ने दी: कैप्टन अमरेन्द्र

उन्होंने कहा कि मोहाली एयरपोर्ट का नाम शहीद भगत सिंह के नाम पर रखे जाने के लिए उन्होंने केन्द्र सरकार को पत्र लिखा है। स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने शायराना अंदाज में शहीद भगत सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उसकी मां उसकी सबसे बड़ी गुरु है जिन्होंने उसे शहीदों की कहानियां सुना कर राष्ट्र की सेवा का जज्बा पैदा किया है। उन्होंने कहा कि आज फिल्मों के पर्दे पर आने वाले रोल के हीरों संबंधी तो युवाओं को जानकारी है परन्तु शहीद भगत सिंह जैसे अन्य बहुत सारे शहीद जो वास्तविक में देश के हीरों संबंधी जानकारी में कमी है। उन्होंने कहा कि पाक जैसे विरोधी राष्ट्र भी शहीद भगत सिंह का सम्मान करते है। 56 प्रतिशत आबादी पंजाब में नौजवानों की है जिनमें शहीदों जैसा जज्बा तथा राष्ट भक्ति पैदा करने के लिए शहीद भगत सिंह जैसे स्मारकों पर स्कूल-कालेज के विद्यार्थियों को लाने की जरुरत है।

स्वतंत्रता के संघर्ष में सबसे अधिक कुर्बानियां पंजाबियों ने दी: कैप्टन अमरेन्द्र

उन्होंने कहा कि अकाली भाजपा ने पिछले 10 वर्षों देश का बड़ा नुकसान किया है,देश की युवा पीढ़ी रोजगार की तलाश में विदेशों को जाने के लिए मजबूर हो रही है। इस अवसर पर विधायक अंगद सिंह नवांशहर तथा विधायक चौधरी दर्शन लाल मंगूपुर ने भी विचार रखते हुए शहीदों को श्रद्धा सुमन भेंट किए। इस अवसर पर पूर्व विधायक लवकुमार गोल्डी गढशंकर,पूर्व विधायक बीबी गुर इकबाल कौर बबली नवांशहर,पूर्व मंत्री मलकीत सिंह लाक्खा, जिला प्रधान सतवीर सिंह पल्ली झिक्की आदि उपस्थित थे। इससे पूर्व मुख्य मंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह तथा नवजोत सिंह सिद्धू ने शहीद भगत सिंह के बुत्त पर श्रद्दा सुमन अर्पित किए तथा शहीद-ए-आजम भगत सिंह की यादगार तथा अजायब घर को राष्ट्र को अर्पण किया।

टीचर भी बन चुकी है पूनम पांडेय बोल्ड एक्ट्रेस, इसकी हॉटनेस से घबरा गया था गूगल

वायरल VIDEO देखिये तौलिए में डांस कर रही थी ये एक्ट्रेस, फिर हुआ कुछ ऐसा

दीपिका कक्कड़ और शोएब इब्राहिम ने मुंबई में दिया शादी का ग्रैंड रिसेप्शन

दीपिका पादुकोण में 3 अभिनेत्रियों की झलक दिखाई देती है संजय लीला भंसाली

ताजातरीन खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें

हिन्दी खबरों से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Google Play Store सें ⇒⇒⇒ MdssHindiNews (App)

दोस्तों संग शेयर करें
Share on Facebook
Facebook
Share on Google+
Google+
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on LinkedIn
Linkedin
Pin on Pinterest
Pinterest
Share on Tumblr
Tumblr

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *