अंकित सक्सेना के पिता ने की अपील माहौल बिगाड़ने वाली राजनीति न करें जानिये खबर

अंकित सक्सेना के पिता ने की अपील माहौल बिगाड़ने वाली राजनीति न करें जानिये खबर

अंकित सक्सेना के पिता ने की अपील माहौल बिगाड़ने वाली राजनीति न करें जानिये खबर। दिल्ली के ख्याला इलाके में फटॉग्रफर अंकित सक्सेना की हत्या के बाद लोगों में जहां रोष है वहीं उनके पिता यशपाल ने अपील की है कि घटना पर माहौल बिगाड़ने वाली राजनीति न करें। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए यशपाल ने कहा कि उन्होंने किसी समुदाय को चिह्नित करके आरोप नहीं लगाए हैं। हालांकि, उन्होंने यह जरूर कहा है कि उनका बेटा किसी भी धर्म या जाति की लड़की से शादी करने की इच्छा जाहिर करता तो वह उसके लिए हमेशा तैयार थे।

अंकित सक्सेना के पिता ने की अपील माहौल बिगाड़ने वाली राजनीति न करें जानिये खबर

उल्लेखनीय है कि 23 वर्षीय अंकित दूसरे समुदाय की लड़की से प्यार करता था जो बात लड़की के परिजनों को पसंद नहीं थी। लड़की के परिवारवालों पर आरोप है कि उन्होंने गुरुवार शाम अंकित की बीच सड़क पर गला रेतकर हत्या कर दी। मौके पर अंकित की मां भी मौजूद थीं, जो अपने बेटे को बचाने की कोशिश कर रही थीं। इधर, घर की दीवारों पर लटकी अंकित सक्सेना की दर्जनों तस्वीरें देखकर हर कोई टकटकी लगाए देख रहा है। पिता यशपाल हार्ट पेशंट और मां को शुगर की बीमारी है। अंकित ही उनके बुढ़ापे की लाठी थे। मगर, कुछ ही मिनटों में उनकी दुनिया पूरी तरह उजड़ गई। अंकित की मां कमलेश बेटे के गम में बार-बार बेहोश हो रही हैं। शनिवार को उनका चेकअप कराया गया।

अंकित सक्सेना के पिता ने की अपील माहौल बिगाड़ने वाली राजनीति न करें जानिये खबर

अंकित सक्सेना के पिता ने की अपील माहौल बिगाड़ने वाली राजनीति न करें जानिये खबरअंकित के फ्रेंड्स का कहना है कि औरों को हंसाने वाला अचानक ऐसे सब को छोड़कर रुला जाएगा किसी ने सोचा नहीं था। उनका परिवार बुरी तरह टूट चुका है। अंकित के मामा ने कहा कि उन्हें कानून पर पूरा भरोसा है, इंसाफ जरूर मिलेगा। उन्होंने कहा कि हत्या के दोषियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि परिवार को उस लड़की के साथ इस हद तक फ्रेंडशिप की जानकारी नहीं थी। दोनों परिवार एक-दूसरे को जानते थे। उन्होंने कहा कि पहले पड़ोस में ही रहते थे, इसलिए जान-पहचान हो गई।

अंकित सक्सेना के पिता ने की अपील माहौल बिगाड़ने वाली राजनीति न करें जानिये खबर

मां कमलेश अपने घर आने वाले हर शख्स से हाथ जोड़कर अपने बाबू (अंकित) को उन तक लाने की गुहार लगा रही थीं। 15 साल पहले अंकित के पिता की टीवी और दूसरे इलेक्ट्रॉनिक सामान की दुकान थी। हार्ट की बीमारी होने के बाद वह दुकान बंदकर घर में ही रहने लगे। इसके बाद परिवार के भरण-पोषण की जिम्मेदारी अंकित के कंधों पर ही थी।

विराट कोहली ने रिकी पोंटिंग के रिकॉर्ड की बराबरी और की शुरुआत रिकॉर्ड बनाने की

पद्मावत फिल्‍म रणवीर सिंह अलाउद्दीन खिलजी के रोल में सब पर भारी पड़े बोले भंसाली

रानी मुखर्जी की फिल्म हिचकी को लगी है हिचकी अब इस दिन होने वाली है रिलीज देखें

ताजातरीन खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें

आप से विनम्र अनुरोध है कि आर्टिकल पर लाइक और कमेंट करना ना भूले और नीचे दिए कमेंट बॉक्स में अपनी राये दे साथ ही हमे फॉलो करना ना भूले जिससे आप हमारे आने वाले आर्टिकल से जुड़े रहें

दोस्तों संग शेयर करें
Share on Facebook
Facebook
Share on Google+
Google+
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on LinkedIn
Linkedin
Pin on Pinterest
Pinterest
Share on Tumblr
Tumblr

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *